Amezing Animal Facts in Hindi

Amezing Animal Facts in Hindi
Amezing Animal Facts in Hindi

जानवर हर जगह हैं ! पृथ्वी जानवरों की 80 लाख से अधिक प्रजातियों का घर है। हम मनुष्य के रूप में सोच सकते हैं कि हम ग्रह पर सबसे रोमांचक प्राणी हैं-लेकिन अन्यथा सोचें! सबसे छोटी चींटी से लेकर सबसे बड़ी व्हेल तक, हमारे साथी प्राणियों में अद्भुत क्षमताएं हैं और वे अपना अस्तित्व सुनिश्चित करने के लिए हर दिन अविश्वसनीय कारनामे करते हैं! इस ब्लॉग के माध्यम से जानिए जानवरों से जुड़े कुछ ऐसे तथ्य Animal Facts in Hindi जो आपको पता भी नहीं होगा।

Amezing Animal Facts in Hindi

  1. ब्लैक पैंथर में मेलानिज़्म नामक एक परमाणु जीन परिवर्तन होता है, जिससे काले घने बाल उगते हैं। लगभग छह फीसदी आबादी में इसी तरह का बदलाव होता है। भारत ही नहीं पूरी दुनिया में हैं ये रंग के टुकड़े काफी दुर्लभ हैं।
  2. बेसेंजी एक ऐसी आकृति की नस्ल है जो कभी भोंकती नहीं है।
  3. ब्लू व्हेल बिना खाए 6 महीने तक जिंदा रह सकती है |
  4. चीटियां सोती नहीं हैं, लेकिन दिन में दो बार 8 मिनट के लिए झपकी ली जाती हैं।
  5. केवल चमत्कार ही ऐसा स्तनधारी है, जिसे उड़ाया जा सकता है |
  6. जेली मछली का दिल नहीं होता |
  7. बिल्लियाँ इकलौती ऐसे स्तनधारी जानवर है जो मीठे का स्वाद नहीं ले सकते क्यूंकि इनमें Sweet Taste Receptor मौजूद नहीं होते।
  8. शाकाहारी जानवर अपने मुँह से पानी पीते है जबकि मांसाहारी जानवर अपने जीभ की मदद से पानी पीते है।
  9. Hummingbird इकलौती ऐसी पक्षीयों की प्रजाति है जो पीछे की तरफ भी उड़ सकती है।
  10. Dolphins के पास 100-200 के करीब दाँत मौजूद होते है लेकिन फिर भी ये अपने शिकार को चबा के नहीं बल्कि निगल कर खाते है।

Amezing Animal Facts in Hindi

  1. मेगालोडन शार्क पृथ्वी पर अब तक का सबसे बड़ा शिकारी था, यह 60 फीट लंबा और सात टन वजनी था और इसके दांत 18 इंच तक लंबे हो सकते थे और इसके जबड़े इतने बड़े थे कि वह पूरे टी रेक्स को एक ही निवाले में समेट सकता था। राक्षसी शार्क आज के ग्रेट व्हाइट शार्क से पांच गुना बड़ा था मेगालोडन शार्क लगभग 20 मिलियन वर्ष पहले रहता था मेगालोडन पूरे महासागरों में तैरता था और विशाल और अन्य समुद्री समुद्री जीवों का शिकार करता था, यह कोई शिकारी नहीं था, जिससे यह समुद्र का असली राजा बन गया लेकिन लगभग गायब हो गया तीन मिलियन वर्ष पहले मेगालोडन नामक वैज्ञानिक अभी भी निश्चित नहीं है कि ऐसा क्यों हुआ लेकिन कुछ सिद्धांतो में जलवायु परिवर्तन या भोजन की कमी शामिल है।
  2. शार्क की 500 से अधिक स्थापत्य कलाएँ हैं, और केवल तीन (ग्रेट व्हाइट शार्क, बुल शार्क और टाइगर शार्क) पर होने वाले अधिकांश दावे जिम्मेदार हैं। ऐसे हमले बहुत ही दुर्लभ हैं – वास्तव में, शार्क द्वारा प्रत्येक व्यक्ति को मार डाला जाता है, बीस लाख शार्क मारे जाते हैं, दुनिया की एक चौथाई शार्क अब खतरनाक स्थिति में हैं। दरअसल, शार्क की तुलना में बिजली गिरने से आपकी मौत की आशंका 75 गुना ज्यादा है।
  3. डॉग टीवी नहीं देख सकते हैं, लेकिन वो ऐसे दिखते हैं कि वो भी टीवी देख रहे हैं। कुत्ते की बहुत ही हाई डेफिनिशन की तस्वीर देख सकते हैं। तकनिकी रूप से उनका रंग ब्लाइंड होता है।
  4. खाबुन ने देखा कर शेर चीता भी थार था कांपते है खाबुन बंदारो की एक ऐसी प्रजाति है जो सिर्फ ताजा मांस खाती है यह एक खतरनाक जीव अफ्रीका के देश में देखा जाता है जंगल में शिकार की कमी न हो इसलिए खाबुन शेर चीता के बच्चों का अपहरण मार देता है ताकि बच्चे बड़े हो जाएं उनके लिए कोई खतरा ना बने इसलिए यह एक दूसरे के कट्टर दुश्मनों के साथ है अगर इन दोनों में लड़ाई होगी तो कोन जीतेगा कमेंट में जरूर लिखें।
  5. इंसान और कुत्ते दोनों में ही ऑक्सीटोसिन नाम का एक लव हार्मोन रिलीज होता है जिससे उनका बंधन मजबूत होता है।
  6. फेन का ब्लड ग्रुप त्राहिमाम प्रकार का होता है।
  7. कुत्ते के बच्चे के जन्म के समय से पहले, अंधेपन और दांतों के बिना पैदा होते हैं वो अपनी नाक की हीट सेंसर की मदद से अपनी मां को खोजें।
  8. सेंट्रोसॉरस लगभग 100 मिलियन वर्ष पहले धरती पर आ रहे थे ये दिखने में तो राइनो से मिलते जुलते थे लेकिन इसकी नाक पर एक बड़ा और खतरनाक गायन हुआ था माना जाता है कि ये गायन में इस्तमाल करते थे ये एक शाकाहारी विद्वान था और जंगल में रहते थे सिर पर एक बड़ा सा हड्डी हुआ करता था ये अपने शिंगो और मजबूत जबड़ों से अपना आरक्षण कर सकते थे ये जानवर करीब चार टन वजन के थे और इनकी लंबाई 6 मीटर तक हो सकती थी दिलचस्ब बात है सेंट्रोसॉरस की एक नवजात बच्चे के दिमाग का वजन सिर्फ 80 ग्राम होता है।
  9. नर घोड़े के 40 दांत होते हैं, जबकि मादा घोड़े के 36 दांत होते हैं |
  10. दूसरे चूहे का दुख महसूस कर सकते हैं। लेकिन ऐसा करने से वो भी दुखी हो जाते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *